जानिए कौन सा है 2019 में भारत के लिए सबसे अच्छा वीपीएन (VPN)

भारत के लिए 2019 में सबसे अच्छा वीपीएन कौन सा है? भारत में रहकर काम कर रहे एक विदेशी होने के नाते, निश्चय ही आप लालायित होंगे यह जानने के लिए कि आपके देश के अपने पसंदीदा स्थानीय कार्यक्रमों में क्या चल रहा है। ऊपर से समस्या यह कि भारत सरकार लगातार मान्यता प्राप्त कानूनी वेबसाइट्स को रोकती रहती है।इन सब प्रतिबंधों से निपटने के लिए, आपको जरूरत होती है एक ऐसे वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क प्रोवाइडर की जिसके पास आपके अपने देश में पर्याप्त संख्या में सर्वर्स हों। वीपीएन इस्तेमाल करने से आपको यह भी फ़ायदा होगा कि आपकी पहचान सुरक्षित रहती है, और आपकी मनपसंद जियो-रेस्ट्रिक्टिड साइट्स खुल जाती हैं। इसी तरह, उन भारतीयों को, जो ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, यूनाइटेड किंग्डम, कनाडा, या अमेरिका में काम करते हैं, विदेशों में अपने मनपसंद टीवी कार्यक्रमों और चैनलों को देखने में कठिनाई होती है। एक वीपीएन के द्वारा आप इन सभी देशीय प्रतिबंधों से बच सकते हैं। यह सब जानने के बाद, ये हैं आपके लिए भारत में काम आने वाले कुछ उच्च कोटि के वीपीएन।

जानिए कौन सा है 2019 में भारत के लिए सबसे अच्छा वीपीएन

जानिए कौन सा है 2019 में भारत के लिए सबसे अच्छा वीपीएन

Get ExpressVPN

Top Recommended VPN

30-Day Money-Back Guarantee

भारत के लिए सर्वश्रेष्ठ वीपीएन–सारांश

  1. ExpressVPN
  2. IPVanish
  3. NordVPN
  4. BulletVPN
  5. VyprVPN

भारत में लगे प्रतिबंध, हालांकि इतने कड़े नहीं हैं, फिर भी ये आपको विदेशों से चैनल्स देखने की अनुमति नहीं देते जैसे बीबीसी आइप्लेयर, नेटफ्लिक्स यूएस वर्शन या हुलू। इन चैनल्स में आपके मनोरंजन के लिए कुछ बहुत ही लोकप्रिय टीवी शो और मूवीज मिलते हैं। एक बार वीपीएन के बारे में जान लेने पर कोई कारण नहीं कि आप इन से वंचित रहें।इनके इस्तेमाल से आप आसानी से अपना आइपी एड्रेस बदल सकते हैं, जिससे आपकी इंटरनेट पहचान गुप्त रहती है, और अधिक सुरक्षित हो जाती है।

Last Updated Yesterday  
Rank
VPN Provider
Link
rank
vpn-provider
  • 30-Day Money-back Guarantee
  • Unlimited Bandwidth
  • Apps For All Your Devices
  • 24/7 Live Support
Visit ExpressVPN

वीपीएन सेवाओं की सूची बहुत लंबी है, इसलिए इनमें से किसी एक को अपने लिए चुनना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। इसलिए हम आपको वीपीएन की एक ऐसी सूची देंगें जो आपके वाकई काम की होंगी और आपका समय बचाएगी।
किसी भी वीपीएन को चुनने से पहले उसके बारे में रिव्यूज़ और ग्राहकों की राय को अच्छी तरह पढ़ना न भूलें ताकि आपको पता रहे कि आप उससे क्या पा सकते हैं। इससे आप हर वीपीएन सेवा से मिलने वाले फ़ीचर्स को सूचीबद्ध कर सकते हैं।

2019 में भारत के लिए सर्वश्रेष्ठ वीपीएन

ExpressVPN

कुछ बहुत अच्छे प्रोवाइडर्स में से एक, ExpressVPN (एक्सप्रेस वीपीएन) के भारत समेत 100 से ज़्यादा देशों में सर्वर्स हैं। यह बहुत ऊंचे स्तर का डाटा इंक्रिप्शन देते हैं और अपने ग्राहकों की ऑनलाइन पहचान गुप्त रखते हैं। ज्यादातर लोग इसका एक से ज्यादा डिवाइसिस पर इस्तेमाल करते हैं; अपने फोन, कंप्यूटर, टेबलेट, और स्मार्ट टीवी पर।

IPVanish

इनके 400+सर्वर्स यह सुनिश्चित करते हैं कि आप जहां कहीं भी हैं आपको सबसे तेज कनेक्शन मिलता है और आप जो भी देखना चाहते हैं देख सकते हैं।आइपी वैनिश लेने के बाद आप यूएस, यूके, कनाडा, फ़्रांस और यहां तक कि ऑस्ट्रेलिया के कार्यक्रमों का भी जायज़ा ले सकते हैं।

BulletVPN

बाजार में अपेक्षाकृत एक नए खिलाड़ी BulletVPN (बुलेट वीपीएन), 26 देशों की अपनी वर्तमान सूची में नए नए सर्वर बढ़ाते जा रहे हैं और बड़ी स्थापित कंपनियों को टक्कर देने की राह पर है।

VyprVPN

700 से भी ज्यादा सर्वर्स वाले VyprVPN (वीवाइपीआर वीपीएन), अपने ग्राहकों को विद्युत गति से कनेक्शन देने  की गारंटी देते हैं जिससे इंटरनेट का सुरक्षित और गुप्त तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है। इनके सर्वर्स भारत सहित यूएस, हॉंगकॉंग, और यूके में फैले हुए हैं।

StrongVPN

हालांकि इनके भारत में कोई सर्वर्स नहीं हैं, फिर भी 44 StrongVPN (स्ट्रौंग वीपीएन) आपका हमेशा एक ऐसा कनेक्शन बनाए रखते हैं जो भरोसेमंद, तेज और सुरक्षित है। आप वीपीएन प्रोटोकॉल्स की एक अच्छी खासी सूची में से चुन सकते हैं जैसे पीपीटीपी,एल2टीपी/आइपीसेक, और ओपन वीपीएन।

SaferVPN

यह प्रोवाइडर अपने ग्राहकों को आसानी से इस्तेमाल किए जा सकने वाला वीपीएन क्लाइंट देता है, और इसके 150+ सर्वर आपको ढेर सारी वेबसाइट सामग्री और चैनलों की भी सुविधा देते हैं। सेफ़र वीपीएन लॉग्स नहीं रखता और ऐसे प्रोटोकॉल्स को सपोर्ट करता है जिससे आप सुरक्षित रहते हैं और पहचान गुप्त रहती है।

HideMyAss VPN

यह वीपीएन इंडस्ट्री में मार्केट लीडर हैं। इसके कुछ बहुप्रशंसित फ़ीचर्स में से एक है इनकी ग्राहक सेवा टीम। बहुत ही व्यावसायिक, प्रशिक्षित और सदैव उपलब्ध रहते हैं, आपकी किसी भी दुविधा में मदद करने, और आपके सभी सवालों का जवाब देने के लिए।

Private Internet Access

PIA VPN (प्राइवेट इंटरनेट एक्सेस) दावा करते हैं 24 देशों में फैले हुए करीब 4000 सर्वर्स का, और यह आश्वासन देते हैं कि आपकी इंटरनेट ब्राउजिंग व्यक्तिगत और सुरक्षित रहती है और कोई भी इसमें तांकझांक नहीं कर सकता। इनके सर्वर्स यूएस, यूके, चीन, रूस और दूसरे कई देशों में फैले हुए हैं।इसके एक अकाउंट से आप 5 डिवाइस को जोड़ सकते हैं, यानी आप अपना फोन, टैबलेट, स्मार्ट टीवी, यहां तक कि अपना गेमिंग कंसोल भी जोड़ सकते हैं।

वे चैनल्स जिन्हें आप भारत में वीपीएन से खोल सकते हैं

  • अमेरिकी नेटफ्लिक्स
  • अमेरिकी अमेजॉन प्राइम
  • स्काई जीओ
  • बीबीसी आइप्लेयर
  • आइटीवी
  • एचबीओ जीओ
  • हुलू

भारतीय चैनल्स जिन्हें आप वीपीएन से खोल सकते हैं

  • हॉटस्टार
  • स्टारस्पोर्ट
  • वूट
  • जियो टीवी
  • डिट्टो टीवी
  • यप्प टीवी
  • ओज़ी
  • सोनीलिव

इंटरनेट के इस्तेमाल पर भारतीय प्रतिबंध

भारत में इंटरनेट के इस्तेमाल को प्रशासन बहुत कड़ाई से मानीटर नहीं करता है। उनके पास हालांकि यह क्षमता है कि वे किसी भी ऐसे आइसीटी के इस्तेमाल को ब्लॉक कर सकते हैं जिसे सरकार ठीक न समझे। ऐसा उस नेटवर्क को बंद करके किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, ऐसा एक वाकया सितंबर 2014 में हुआ जब हिंदू और मुसलमानों के बीच एक गंभीर टकराव के कारण पुलिस को कार्रवाई करनी पड़ी।इसको नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस को सभी 2जी, 3जी एस एम एस, और एम एम एस सेवाओं को कुछ समय के लिए बंद करने के आदेश देने पड़े।

सामग्री पर प्रतिबंध

सरकार के पास कानूनी अधिकार है ( इनफ़ार्मेशन टेक्नोलॉजी नियम/ब्लॉकिंग नियम) किसी भी एजेंसी को किसी भी ऑनलाइन सूचना को ब्लॉक करने का निर्देश देने का,जिससे इन बातों पर प्रभाव पड़ता है:

  • राज्य की सुरक्षा
  • भारत की संप्रभुता और अखंडता
  • भारतीय रक्षा तंत्र
  • राजनयिक संबंध

भारत की अदालतों को भी यह अधिकार है कि वह सरकार की अनुमति लिए बगैर इंटरनेट की सामग्री पर रोक लगा सकती हैं।

ऐसे उदाहरण हैं जब भारत सरकार ने जून 2014 और मई 2015 के बीच कुछ वेबसाइट्स को प्रतिबंधित किया, जिनमें गूगल और विमयो खास हैं। हाल ही में, एक पाइरेसी संबंधित प्रतिबंध के कारण 2650 साइट्स को भारत में ब्लाक किया गया जिनमें Archive.org और वीबली शामिल हैं।

भारत में सर्वश्रेष्ठ वीपीएन के बारे में निष्कर्ष

भारत सरकार के लिए  इंटरनेट सेंसरशिप के बारे में निश्चित तौर पर कुछ कहा नहीं जा सकता। एक दिन अचानक आपको पता चलता है कि किसी साइट पर रोक लगा दी गई है हालांकि आपको लगता है कि इसकी जरूरत नहीं थी, और एक ग्राहक होने के नाते आप उस वेबसाइट की सामग्री का कुछ नहीं कर सकते।एहतियात के तौर पर, बेहतर होगा कि आप एक भरोसेमंद वीपीएन प्रोवाइडर को चुनें जिससे इंटरनेट पर क्या करना है और क्या नहीं यह आपके हाथ में रहे।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

as-seen-on